ऐसा क्या हुआ जो भगवान ब्रह्मा और शिव बरगद के पेड़ में तबदील हुए
ऐसा क्या हुआ जो भगवान ब्रह्मा और शिव बरगद के पेड़ में तबदील हुए – एक बार समस्त देवताओं ने मिलकर एक यज्ञ करने का निश्चय किया. यज्ञ की तैयारी पूर्ण हो गई. तभी वेद ने एक प्रश्न किया तो एक व्यवहारिक समस्या आ खड़ी हुई. ऋषि-मुनियों द्वारा किए जाने वाले यज्ञ की हविष तो… (0 comment)

हम सब श्री हनुमान चालीसा पढते हैं पर सब रटा रटाया
क्या हमे श्री हनुमान चालीसा पढते समय पता भी होता है कि हम हनुमान जी से क्या कह रहे हैं या क्या मांग रहे हैं? बस रटा रटाया बोलते जाते हैं। आनंद और फल शायद तभी मिलेगा जब हमें इसका मतलब भी पता हो। तो लीजिए पेश है श्री हनुमान चालीसा अर्थ सहित!! ॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐॐ श्री गुरु चरण… (0 comment)

महाशिवरात्रि पर भगवान शिव की आराधना का मंत्र
महाशिवरात्रि का हिन्दू और सनातन धर्म में विशेष महत्व है. ऐसे में मंत्र शक्ति जो कि भगवान आशुतोष का अतिप्रिय हैं, उन्हें इस खास अवसर पर अवश्य साधक को पढ़ने चाहिए. प्रसिद्ध ज्योतिषविद् पंडित शिवकुमार शुक्ल जी कहते हैं कि महाशिवरात्रि के पावन अवसर पर सदाशिव भगवान आशुतोष का आराधना,पूजा का विशेष महत्व हमारे सनातन… (0 comment)

हिन्दू धर्म में तिलक लगाने का विशेष महत्व
हिन्दू धर्म में तिलक करने का विशेष महत्व है. संत परंपरा की बात करें तो इससे संतो महात्माओं के संप्रदाय के बारे में पता चलता है. तिलक लगाने से वैष्णव की पहचान होती है. तिलक से ही संतों के संप्रदाय की पहचान होती है. वहीं तिलक केवल धार्मिक मान्यता नहीं है. बल्कि कई वैज्ञानिक कारण… (0 comment)

साल 2016 की प्रमुख घटनाओं पर एक सरसरी नजर
साल 2016 में कई घटनाएँ ऐसी हुई हैं जो हमारे दिमाग से बामुश्किल ही निकलेगी. साल 2016 इतिहास की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण रहा है. साल 2016 को ऐतिसाहिक बोलना कदापि गलत नहीं होगा. क्योंकि इस साल में घटी घटनाओं ने न सिर्फ हमारे देश को बल्कि पूरे विश्व को एक नया मोड़ दिया… (0 comment)

गोवर्धन पर्वत श्याम सलोनें कृष्ण की लीलाओं के साक्षी
धर्म, अर्थ काम और मोक्ष की प्राप्ती के लिए भगवान को भी धरती पर अवतार लेना पड़ा,चलिए आपको धर्म यात्रा के एक ऐसे पड़ाव और ऐसी जगह लेकर चलते हैं, जिनका नाम लेते ही मन चंचल हो उठता है, जिसकी लीलाओं के बारे में जानने की जिज्ञासा बढ़ जाती है. ठीक समझे आप, हम बात… (0 comment)

यूपी चुनाव 2017 किसके सिर सजेगा मुख्यमंत्री का ताज
यूपी चुनाव 2017 (UP Assembly Election 2017) – सभी राजनैतिक दलों की अपनी गणित अपने दावे. किसी भी पार्टी का दावा जीत से कम नहीं. दावे पूर्ण बहुमत से प्रदेश में सरकार बनाने के, दावे यूपी का विकास करने के. सत्तारुढ़ समाजवादी पार्टी के अपने दावे तो वहीं कमल का फूल खिलाना बीजेपी का सपना,… (0 comment)

सुंदरकांड का पाठ देता है सब बाधाओं से मुक्ति
भगवान राम जी को प्रिय हनुमान जी और हनुमान जी को प्रिय सुंदरकांड. ऐसे तो श्रीरामचरितमानस के हर कांड में प्रभु श्रीराम जी की महिमा का वर्णन है,लेकिन मानस के सभी कांडों में सुंदरकांड को मुख्य अध्याय या कांड माना जाता है. जगत के कल्याण के लिए,जनमानस के उद्धार के लिए सबसे सरल और सुलभ… (0 comment)

कपूर से होती है घर में धन धान्य की वृद्धि जाने कैसे
हमारे देश में पूजा पाठ हवन किर्तन, यज्ञ आदि में अक्सर हम कपूर (Camphor) का प्रयोग करते हैं. पूजा संपन्न होने के बाद तो भगवान की आरती के समय मुख्य रुप से कपूर का प्रयोग किया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि पूजा पाठ के अलावा कपूर हमें धन धान्य भी प्रदान करता… (0 comment)

गायत्री मंत्र यादास्त में वृद्धि का अदभुत स्त्रोत
माता गायत्री को वेद माता कहा जाता है. जीवन में शांति (Peace) और शुभता (Goodness) का प्रतिक हैं माता गायत्री. गायत्री मंत्र का जप और पाठ जल्द फलदायक (Fruit Giver) है. जीवन में सुख (Happyness), स्वास्थ्य (Health), संपन्नता को पाने के लिए जरुरी है कि गायत्री मंत्र (Gaytri Mantra) का हम सही तरीके से पाठ… (0 comment)

राशिफल 2017 जानिये क्या कहते हैं आपके के सितारे
राशिफल 2017 जानिये क्या कहते हैं आपके के सितारे- दोस्तों हम ये दुआ करते है कि नव वर्ष 2017 आपके जीवन में खुशहाली, उन्नती तथा तरक्की लेकर आए. इसके लिए आपके लिए ये जानना बहुत जरुरी है कि आने वाला साल 2017 आपके लिए क्या लेकर आएगा. आपके जीवन में क्या बदलाव होंगे, क्या उन्नती… (1 comment)

सबसे कारगर 9 सिद्ध मंत्र करते है बुरी नजर का नाश
जिन लोगो का नजर (Evil eye) लगने की शिकायत होती है. लोग नजर (Evil eye) झाड़ने वालों के पास जाते है और कभी कभी तो आपको उनके नाज नखरे भी उठाने पड़ते है. आप आज इस ज्ञान को खुद भी जान सकते है. बस आपको इसे सूर्य ग्रहण काल,दिवाली, होली आदि में एक बार जाग्रत करना… (0 comment)

शंख की उत्पत्ति किस प्रकार हुई सम्पूर्ण कथा
शंख की उत्पत्ति संबंधी पुराणों में एक कथा वर्णित है. सुदामा नामक एक कृष्ण भक्त पार्षद राधा के शाप से शंखचूड़ दानवराज होकर दक्ष के वंश में जन्मा और अन्त में(विष्णु)ने इस दानव का वध किया शंखचूड़ के वध के पश्चात्‌ सागर में बिखरी उसकी अस्थियों से शंख(Conch)का जन्म हुआ और उसकी आत्मा राधा के… (0 comment)

घर में शंख है तो मिलेगा सुख तथा रोग से मुक्ति
घर में शंख है तो मिलेगा सुख तथा रोग से मुक्ति- हमारे हिन्दू धर्म में शंख (Conch) को पवित्र और शुभ फलदायी माना गया है. इसलिए पूजा पाठ में Conch (शंख) बजाने का नियम है. हम अगर इसके धार्मिक पहलू को दर किनार भी कर दें तो भी घर में शंख (Conch) रखने और इसे नियमित… (0 comment)

पीला पुखराज कौन धारण करें तथा धारण विधि
जन्मकुंडली मे वृहस्पति की शुभ भाव मे स्थिति होने पर प्रभाव मे वृद्धि हेतु और अशुभ स्थिति अथवा नीच राशिगत होने पर दोष निवारण हेतु  पीला पुखराज (Yellow Topaz) धारण करना चाहिए और वृहस्पति की महादशा तथा अंतर्दशा मे भी पीला पुखराज (Yellow Topaz) धारण अवश्य करना चाहिए. जिन लोगों की कुंडली मे वृहस्पति केन्द्र… (0 comment)

नजर लगना क्या है जाने लक्षण, कारण तथा निवारण
हमारे भारतीय समाज में नजर लगना (Evil Eye)  और लगाना एक सामान्य बात है. प्रत्येक परिवार में नजर दोष (Evil Eye) निवारण के उपाय जरुर किए जाते हैं. लेकिन इस बदलते समय में लोग इसे नहीं मानते है. घरेलू महिलाओं का ये मानना है कि बच्चों को नजर अधिक लगती है. यदि बच्चा दूध पीना बंद… (0 comment)

पुखराज रत्न का परिचय, पहचान तथा इसके लाभ
नवग्रहों के नवरत्नों मे से वृहस्पति का रत्न पुखराज रत्न (Topaz) होता है. इसे गुरु का रत्न कहा जाता है पुखराज रत्न (Topaz) सफ़ेद, पीला, गुलाबी, आसमानी, तथा नीले रंगों मे पाया जाता है. किन्तु वृहस्पति गृह के प्रतिनिधि रंग ‘पीला’ होने के कारण पीला पुखराज (Yellow Topaz) ही इस गृह के लिए उपयुक्त और… (0 comment)

स्फटिक धारण करें मिलेगी आर्थिक तंगी से निजात
स्फटिक (Sphatik) की रासायनिक संरचना सिलिकॉन डाइऑक्साइड है. क्रिस्टलों में यह सबसे अधिक साफ, पवित्र और ताकतवर है. स्फटिक (Sphatik) एक शुद्ध क्रिस्टल है. फिर यह भी कहा जा सकता है कि अंग्रेज़ी में शुद्ध क्वार्टज क्रिस्टल का देसी नाम स्फटिक है. ‘प्योर स्नो’ या ‘व्हाइट क्रिस्टल’ भी इसी के नाम हैं. यह सफ़ेदी लिए… (0 comment)

दिशा शूल से जाने किस दिन कौन सी दिशा में यात्रा न करें
दिशा शूल से जाने किस दिन कौन सी दिशा में यात्रा न करें. आपने कभी सोचा है कि आपके बुजुर्ग तिथि देख कर आपके आने जाने की रोक टोक करते हैं. आजकल की जवान पीढ़ी बुजुर्गो को अन्धविसवासी और आउटडेटेड मानती है. लेकिन बड़े हमेशा बड़े ही रहते हैं. इसलिए हमे उनका आदर करना चाहिए.… (0 comment)

शीघ्र विवाह के लिए अपनाये ये ना चुकने वाले टोटके
कई बार जन्मकुंडली में कई ऐसे योग होते हैं. जिनकी वजह से पुरुष या स्त्री विवाह की खुशी से वंचित रह जाते है. कई बार ये रूकावट बाहरी बाधाओं की वजह से भी आती हैं. उम्र लगातार बढती जाती है. लाख प्रयास के बाद भी रिश्ते बन नहीं पाते हैं. मनचाहे रिश्तों का तो जैसे… (1 comment)